Contributor : Profile

Posts by Nishith Prakash

क्या सार्वजनिक क्षेत्र के रोजगार में वंचित समूहों के लिए आरक्षण (कोटा) उनके कल्याण को बढ़ावा दे सकता है?

सकारात्मक कार्रवाई संबंधी नीतियां विवादास्पद रही हैं क्योंकि कई लोगों का यह तर्क है कि इनके लाभ इन नीतियों से बाहर रखे गए लोगों के बदले में मिलते हैं और ये लाभ वंचित समूहों में से अभिजात वर्ग को असमान...

  • लेख

हाई स्कूल में विज्ञान? कॉलेज और नौकरी के परिणाम

भारत में विज्ञान के अध्ययन के साथ जुड़े कैरियर पथ, हाई स्कूलों में अन्य विषयों के अध्ययन से जुड़े कैरियर पथ के मुक़ाबले, अधिक प्रतिष्ठित और लाभप्रद माने जाते हैं। यह लेख उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में ...

  • लेख

Do quotas in public sector employment for disadvantaged groups enhance their welfare?

Affirmative action policies remain controversial with many arguing that benefits come at the expense of those excluded, and accrue disproportionately to the elite in disadvantaged groups. Analysing na...

  • Articles

दहेज ग्रामीण भारत में परिवार के फैसलों को कैसे प्रभावित करता है?

यह व्यापक रूप से माना जाता है कि भारतीय माता-पिता बेटी के पैदा होते ही दहेज के लिए बचत करना शुरू कर देते हैं। ग्रामीण भारत में दहेज पर दो-भाग की श्रृंखला के इस दूसरे भाग में, यह लेख इस बात की जांच करत...

  • लेख

ग्रामीण भारत में दहेज प्रथा का क्रमिक उद्भव: 1960-2008 के साक्ष्य

1961 से अवैध घोषित किये जाने के बावजूद, दहेज परंपरा ग्रामीण भारत में व्यापक रूप से फैली हुई है। दो - भागों की श्रृंखला के इस पहले भाग में, यह लेख राज्यों और धार्मिक एवं सामाजिक समूहों में 1960 - 2008 ...

  • लेख

Evolution of dowry in rural India: Evidence from 1960-2008

Despite being illegal since 1961, dowry continues to be a widespread phenomenon in rural India. In the first of a two-part series, this article tracks the evolution of dowry during 1960-2008 across st...

  • Articles

How dowry influences household decisions in rural India

It is widely believed that Indian parents start saving for dowry as soon as a daughter is born. In the second of a two-part series on dowry in rural India, this article examines how dowry influences h...

  • Articles

जब आपराधिकता अपराध को जन्‍म देती है: निर्वाचित राजनेताओं की भूमिका

राजनीति का अपराधीकरण समाज के लिए एक बहुत बड़ा खतरा बन गया है। यद्यपि साहित्य में आपराधिक रूप से आरोपी नेताओं के आर्थिक परिणामों पर अध्ययन तो किया गया है, लेकिन उनके क्षेत्राधिकार में आपराधिक माहौल पर ...

  • दृष्टिकोण

When criminality begets crime: The role of elected politicians

The criminalisation of politics has become a massive threat to society. While the impact of criminally accused leaders on economic outcomes has been studied in the literature, little is known about th...

  • Perspectives

क्या भारत में अंग्रेजी बोलना अधिक लाभकारी होता है?

भारत में आम धारणा है कि अंग्रेजी-भाषा कौशल से ही बड़े पैमाने पर आर्थिक प्रतिफल प्राप्‍त होते हैं। इस कॉलम में भारत में अंग्रेजी कौशल से वेतन प्रतिफल का अनुमान लगाया गया है, जिसमे यह पाया गया कि अंग्रे...

  • लेख

Science in high school? College and job outcomes

Career paths associated with the study of science vis-à-vis other disciplines in high school, are considered more prestigious and renumerative in India. This article examines the association between ...

  • Articles

Political Change and Crime Reduction in Bihar

The aim of this project was to understand the mechanisms through which the political changes in 2005 contributed to the dramatic subsequent reduction in violent crimes. This project is an extension of...

  • IGC Research on India